नेशनल हाईवे के पास से मिला 52 किलो विस्फोटक, पुलवामा जैसा आतंकी हमला टला


सेना ने कश्मीर में गादिकल के कारेवा इलाके में गुरुवार को 52 किलोग्राम विस्फोटक बरामद कर पुलवामा जैसा हमला होने से रोक लिया। सेना के अधिकारियों ने बताया कि विस्फोटक एक नेशनल हाईवे के नजदीक बरामद किया गया। ये विस्फोटक जिस जगह से बरामद किए गए हैं, उसके निकट ही पिछले साल पुलवामा आतंकवादी हमला हुआ था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

सेना के एक अधिकारी ने कहा, 'हमने पुलवामा जैसा एक और हमला टाल दिया है।' अधिकारियों ने बताया कि तलाश अभियान के दौरान सुबह करीब आठ बजे पानी की एक टंकी से विस्फोटक बरामद किए गए।'

एक अधिकारी ने कहा, 'विस्फोटकों के 416 पैकेट बरामद किए गए, जिनमें से हरेक का वजन 125 ग्राम था।' उन्होंने बताया कि इसके बाद इलाके में तलाश अभियान के दौरान एक अन्य पानी की टंकी से 50 डेटोनेटर बरामद किए गए। उन्होंने कहा कि इन विस्फोटकों को 'सुपर-90' या 'एस-90' के नाम से जाना जाता है।

कब हुआ था पुलवामा हमला?

पिछले साल 14 फरवरी को, जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर भारतीय सुरक्षाकर्मियों को ले जाने वाले सीआरपीएफ के वाहनों के काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था, जिसमें 45 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। यह हमला जम्मू और कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपोरा के निकट लेथपोरा इलाके में हुआ था। इस हमले को पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने करवाया था। इस हमले के बाद भारत ने बालाकोट एयरस्ट्राइक करते हुए कई आतंकियों को मार गिराया था।